उम्मीद की ऊर्जा

दोस्तों उम्मीद एक ऐसा शब्द है जो अपने साथ अनगिनत सकारात्मक संभावनाओं को समेटे हुए है जो हमारे जीवन को मजबूती से खड़े रहने की शक्ति प्रदान करता है । दोस्तों हमारे जीवन को चलाने के लिए दो तरह की शक्ति चाहिए एक मन की दूसरी तन की । तन की शक्ति आती है अच्छा खान पान से मन की शक्ति का एकमात्र आधार उम्मीद आशा सकारात्मक सोच से मिलती है । दोस्तों उम्मीद की ताकत बहुत ही प्रबल होती है । आजकल दोस्तों हमारे सामने एक ऐसा वर्क प्लेस है…

Read More

वक़्त की पाठशाला

दोस्तो पाठशाला शब्द सुनते ही सबको अपने अपने बचपन की याद आ जाती है छोटे छोटे किताबो के बस्ते सुबह सुबह स्कूल जाना ढेर सारी मस्ती करना सब याद आने लगता है यह सोच कर लगता है काश हम छोटे छोटे ही रहते लेकिन बड़ा होने की समझ अलग होती है हम हमारे घरों से किताबी ज्ञान सीखने लगते उसमें संस्कार भी सामिल है बड़ो को प्रणाम छोटे को प्यार जैसी चीजें हमें सिखायी जाती है हम स्कूल में आते हैं पढ़ाई करते हुए बहुत कुछ सीखते है लेकिन दोस्तों…

Read More

वक़्त की जीत

घर के बाहर आज काफ़ी भीड़ थी लोगों को किसी का इंतजार था घर रिश्तेदारों का आना भी शुरू हो गया था साथ ही सुधा के पति विजय की गाड़ी आ गयी लेकिन उन्होंने अपनी गाड़ी सहित गेट से अंदर आ गये ।उनको मालूम था कि रमन को आने में अभी टाइम है तब तक हम फ्रैश हो कर चाय पी लेते हैं ।गाड़ी से उतर कर आ अंदर जाने के लिए बढ़े तो मालूम हुआ कि मेहमान पहुँच गए हैं अंदर दाखिल होने पर सुधा सुधा आवाज़ लगाई लेकिन…

Read More

वक़्त और क्रोध

दोस्तों आज मैं एक ऐसे विषय परविचार रख रही हूँ जिससे हर कोई सहमत नहीं हो सकता । दोस्तों , क्रोध एक ऐसी ऊर्जा है जो इंसान को अन्धा कर देती और उसके सोचने समझने की शक्ति क्षीण हो जाती है इसलिए क्रोध नही करना चाहिए यह अच्छा नहीं होता लेकिन मेरा मानना है कि क्रोध करना भी नुकसान दायक है और न करना भी नुकसान दायक है हमने किताबों में पढ़ा है कि क्रोध करना कायरता की निशानी है दुर्बल मानसिकता को दर्शाता है लेकिन दोस्तों ये सही नहीं…

Read More

बिंदिया की बिंदिया

बिंदिया की बिंदिया बिंदिया ओ बिंदिया कहा हो ।राहुल लगभग चीखता हुआ घर में प्रवेश करता है एक बार फिर उसी सुर में आवाज़ लगाता है बिंदिया ओ बिंदिया कहा हो । राहुल की तेज आवाज से बिंदिया को गुस्सा आ गया ,रसोई से पैर पटकती हुई आई और बोली कहा होउंगी रसोईमें हूँ इसके अलावा और कौन सा शाही आराम खाना बनवा रखा है मेरे लिए ।बताओ क्यों बिंदिया रहे हो लगानी है क्या बिंदिया ने कहते हुए मुस्कुरा दिया ऐसा इसलिए था क्योंकि राहुल को लाख गुस्सा आ…

Read More

नववर्ष की पावन बेला

नववर्ष की पावन बेला नववर्ष की पावन बेला की नई किरण केसाथ हम हमारे समस्त मानव जाति और विश्व के कल्याण के लिए देवो के देव महादेव से कर बद्ध प्रार्थना करते है ।दोस्तों नववर्ष की हार्दिक शुभकामनायें। देख ते देख ते साल 2021 पूरा हो गया तो मैने सोचा कुछ खट्टी कुछ मीठी यादें हैं जिनकी एक प्यारी सी पोटली बनाकर अपने मन के किसी कोने मे रख देते हैं ताकि फुरसत के क्षणों में कभी खोल कर देखने का मन करे तो आसानी से मिल जाए । साल बीत गया और आज कागज के पन्नों…

Read More

मगरैल के फायदे और नुकसान

दोस्तों भारतीय रसोई के मसाले बहुत ही अद्भुत होते है इनका स्वाद और खुशबू लाजबाब होती है इसके अलावा इन मसालों का हमरी सेहत केसाथ जो कनेक्शन है वो चमत्कारी है आज बात करते हैं करायल की जो ब्लैक सीड के नाम से भी जाना जाता है करायल में सेहत का खजाना छुपा है इसका उपयोग भारतीय रसोई में किया जाता है करायल में पाए जाने वाले पोषक तत्व करायल में क ई प्रकार के आवश्यक लवण और पोषक तत्व होते हैं इसमें आयरन ,पोटैशियम,कैल्सियम ,सोडियम और फाइबर होता है…

Read More

स्वस्थ जीवन संतुलित आहार

स्वस्थ जीवन  संतुलित आहार दोस्तों हम जिस वर्तमान समय में जी रहे हैं उस में सभी को जीवन की दौड़ में शामिल होना ऐसे में इंसान अपने आप को कंमपटीशन की आग में झोंक देता है न खाने का सही वक़्त रहता आ न सोने का न जगने दोस्तों इसका परिणाम यह होता है कि आपका बढ़ा हुआ पेट और वेट आधा सफेद और बहुत आ कम बचे हुए बाल ए तो आपका लुक हो गया । साथ में हेल्थ प्रमोशन भी हुआ शुगर बी पी के साथ और जब लौट…

Read More

हैल्दी ब्रेक फास्ट अंकुरित अनाज

अंकुरित मूँग दोस्तों आज के इस मशीनी दौर में किसी के पास खाने का वक़्त नहीं होता तो किसी के पास बनाने का वक़्त नहीं होता तो इन दोनों वक़्त के मारों को एक साथ आना पड़ेगा दोस्तों वक़्त के मारों से मतलब पति पत्नी से है जो दोनों ही काम करने वाले होते है सुबह की आपाधापी में वक़्त इतना कम हो ता है की नास्ते में बासी ब्रेड ही खाकर चले जाते हैं फिर लंच आफिस के कैंटीन में पिज्जा बर्गर साम को थका हारा घर पे आए जो जल्दी बन…

Read More

जीवन में अनुशासन का महत्व

दोस्तों यह सृष्टि भी अनु शाशन के हिसाब से चलती है अनु शाशन का पालन प्रकृति भी करती है जैसे दि न मे सूरज निकलना, रात मे चाँद, तारे , ठंडी और गर्मी का होना तो इंसान को तो अनु शाशन का पालन करना ही चाहिए जिस तरह से सृष्टि को चलाने के लिए प्रकृति रूपी पहरेदार बैठा है उसी तरह हमें सही दिशा देने के लिए हमे जीवन के मूल्यों को समझाने के लिए अनु शाशन ही पहरेदार होता है फिर चाहे हमारे घर में हो या हमारे वर्क…

Read More